लंबे वक्त के लिए पोस्ट ऑफिस स्कीमों में पैसा लॉक करने का यही है चांस

पोस्ट ऑफिस की स्कीमों में बैंक FD के मुकाबले 1.5% तक ज्यादा ब्याज मिल रहा है. लंबे वक्त के लिए इनमें निवेशकों को ज्यादा फायदा हो सकता है.

लंबे वक्त के लिए पोस्ट ऑफिस स्कीमों में पैसा लॉक करने का यही है चांस
pixabay

पिछले हफ्ते सरकार ने एक आदेश जारी कर स्मॉल सेविंग्स स्कीमों (SSS) में ब्याज की दरों को घटा दिया था. हालांकि, अगले दिन ही सरकार ने इस आदेश को वापस ले लिया. इस तरह से न स्कीमों में ऊंची ब्याज दरों का दौर फिलहाल जारी रहने की उम्मीद है. कम से कम जब तक पांच राज्यों में चुनाव खत्म नहीं हो जाते तब तक तो इन स्कीमों पर ऊंचा ब्याज मिलता रहेगा. 2 मई को पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों के नतीजे आने वाले हैं. ऐसे में इसके बाद छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों में कटौती का फैसला सरकार लागू कर सकती है.

बैंक FD से ज्यादा ब्याज

लेकिन, सरकार के ब्याज दरों में कटौती के फैसले को वापस लेने से निवेशकों के सामने एक मौका पैदा हो गया है. यानी ऐसे निवेशक जो लंबे वक्त के लिए पैसों को निवेश करने की योजना बना रहे हैं वे इन योजनाओं में पैसा लगा सकते हैं. पोस्ट ऑफिस की बचत योजनाओं में इस वक्त निवेश करके निवेशक दूसरे बैंकों के फिक्स्ड डिपॉजिट्स (FD) के मुकाबले कहीं ज्यादा ब्याज हासिल कर सकते हैं. साथ ही इस वक्त अगर निवेशक अपना पैसा पोस्ट ऑफिस की इन बचत योजनाओं में लगाते हैं तो वे मौजूदा ऊंची ब्याज दरों पर इस रकम को लॉक कर सकते हैं. इससे वे बाद में ब्याज दरों में होने वाली गिरावट से होने वाले नुकसान से बच जाएंगे.

पोस्ट ऑफिस TD में 6.7% ब्याज मिल रहा

बैंक एफडी से तुलना करें तो पोस्ट ऑफिस की सेविंग्स स्कीमों में 1.5 फीसदी तक ज्यादा ब्याज फिलहाल मिल रहा है.
मसलन, पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट अकाउंट (TD) में पांच साल के निवेश पर आपको 6.7 फीसदी ब्याज दर मिल रही है. दूसरी ओर, SBI पांच साल के फिक्स्ड डिपॉजिट्स (FD) पर 5.3 फीसदी ब्याज दर दे रहा है. निजी सेक्टर के HDFC बैंक की बात करें तो बैंक इसी अवधि के FD पर 5.3 फीसदी ब्याज दे रहा है. ICICI बैंक के मामले में यह दर 5.35 फीसदी है.

NSC पर 6.8% रेट

इसके अलावा, अगर आप पोस्ट ऑफिस के नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (NSC) में पैसा लगाते हैं तो इसमें 6.8 फीसदी ब्याज दर मिल रहा है. अगर आप 5 साल के NSC में 1,000 रुपये निवेश करते हैं तो आपको 5 साल बाद 1,389.49 रुपये मिलते हैं. इसमें निवेश की जाने वाली न्यूनतम रकम 1,000 रुपये है और इसके बाद इसमें 100 रुपये के गुणांक में पैसा लग सकता है. इसमें निवेश की कोई ऊपरी सीमा नहीं है.

10 साल की अवधि पर ब्याज

अगर किसान विकास पत्र की बात करें तो इसमें 124 महीने की मैच्योरिटी पर 6.9 फीसदी ब्याज दर मिलता है. जबकि पोस्ट ऑफिस की मंथली इनकम स्कीम में 6.6 फीसदी के हिसाब से ब्याज मिलता है.

दूसरी ओर, SBI की 10 साल की FD पर अधिकतम 5.4 फीसदी ब्याज मिल रहा है, ICICI बैंक की दर 5.5 फीसदी और HDFC बैंक भी 5.5 फीसदी ब्याज दे रहा है. पंजाब नेशनल बैंक के मामले में ये दर 5.3 फीसदी है.

इस लिहाज से पोस्ट ऑफिस स्कीमों पर आपको दूसरे बैंकों की FD के मुकाबले अच्छा ब्याज मिल रहा है और लंबे वक्त के लिए पैसे निवेश करने के लिहाज से ये एक अच्छा विकल्प साबित हो सकते हैं.